प्रयागराज 
अहमदाबाद जेल में बंद पूर्व सांसद अतीक अहमद के बंगले, दफ्तर और लखनऊ स्थित फ्लैट के साथ छह स्थानों पर बुधवार सुबह सीबीआई ने छापा मारा। छह अलग-अलग टीमों ने एक साथ सुबह 7:30 बजे कार्रवाई शुरू की। इसके साथ ही सीबीआई टीम चकिया स्थित अतीक की ससुराल, मोहत्सिमगंज में उनके कैशियर फारूक और खुल्दाबाद में पीआरओ जफर उल्लाह के घर भी जांच करने पहुंचीं। शाम को सीबीआई टीम ने अतीक के साले जकी अहमद को गिरफ्तार कर साथ ले गई।

पूर्व सांसद की पत्नी शाइस्ता परवीन और बेटे अली अहमद, असद अहमद, ऐजम और आबान बुधवार सुबह सोकर जागे ही थे कि 7:30 बजे भारी फोर्स के साथ सीबीआई ने दस्तक दी। सीबीआई के आठ अफसर गेट खुलवाकर पुलिस फोर्स लेकर अंदर दाखिल हुए। फोर्स ने पूर्व सांसद के बंगले के दोनों तरफ दूर तक घेराबंदी करते हुए बंगले के पीछे वाले गेट पर भी पहरा डाल दिया। आरएएफ व पीएसी के जवानों ने दूर तक मोर्चा संभाल लिया।  

टीम ने न किसी को अंदर जाने दिया और न किसी को बाहर आने दिया। दोपहर में ताले काटने के लिए टीम ने कटर मंगाया। कयास लगाया जाता रहा कि तिजोरी और बक्सों के तालों को काटने के लिए टीम ने कटर मंगाया। टीम ने बंगले में एक-एक कमरों को खंगाला।  छापे की सूचना पर पूर्व सांसद की बहन शाहीन और वकील खान सौहलत हनीफ भी पहुंचे लेकिन अंदर नहीं जाने दिया। 

सुबह 7:30 बजे ही सीबीआई की एक टीम ने अतीक के घर से कुछ दूर स्थित उनकी ससुराल में भी छापा मारा। यहां भी बाहर पुलिस के जवान तैनात कर टीम अंदर छानबीन में जुट गई। इस दौरान घर पर पुलिस से रिटायर अतीक के ससुर और महिलाएं मौजूद रहीं। टीम ने यहां भी किसी को न तो अंदर आने दिया और न बाहर।  शाम को सीबीआई टीम ने यहीं से अतीक के साले जकी अहमद को गिरफ्तार कर लिया।

इससे पहले एक टीम चकिया कर्बला में स्थित पूर्व सांसद के दफ्तर पहुंच गई। वहां तैनात कर्मचारी से ताला खुलवाकर टीम अंदर दाखिल हुई। बड़ी तादाद में फोर्स तैनात कर टीम छानबीन में जुटी। दो माले के दफ्तर में हर कमरे खंगाले गए। तीनों जगहों पर टीम देरशाम तक छानबीन में जुटी रही। 

सीबीआई की एक टीम सुबह ही अतीक के पीआरओ जफर उल्लाह के घर खुल्दाबाद और दूसरी टीम कैशियर फारूक उमर के घर मोहत्सिमगंज पहुंची। टीम ने इन दोनों के घर भी बारीकी से छानबीन की। हालांकि यहां कार्रवाई दोपहर बाद ही खत्म कर टीम लौट गई। एक टीम ने लखनऊ के गोमती नगर स्थित अतीक के फ्लैट में भी छापा मारा। यहां भी टीम शाम तक छानबीन में जुटी रही। खबर लिखे जाने तक कार्रवई जारी रहने से टीम को मिली चीजों के बारे में जानकारी नहीं हो सकी।