कराची
पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वकार यूनिस ने कहा कि उनके देश के सीनियर खिलाड़ी अपना चरम बीत जाने के बाद भी करियर लंबा खींचते रहने के दोषी हैं और उन्होंने हाल में समाप्त हुए विश्व कप जैसे खराब प्रदर्शन से बचने के लिये क्रिकेट बोर्ड से फार्म और फिटनेस से समझौता नहीं करने के लिये कहा है। पाकिस्तान विश्व कप में राउंड रोबिन चरण में ही बाहर हो गया था। मेजबान इंग्लैंड ने टूर्नामेंट का खिताब जीता। वकार ने किसी का नाम लिये बिना कहा कि आखिरी क्षणों तक हमारी विश्व कप टीम तय नहीं हुई थी। सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारे सीनियर खिलाड़ी अपना करियर खींचते रहने की कोशिश करते हैं और कोई भी उनसे नहीं कहता कि यह सम्मान के साथ विदाई लेने का समय है। उन्होंने कहा कि पिछले कई वर्षों से हम ऐसा देख रहे हैं। आखिरी क्षणों में सीनियर को टीम में शामिल कर दिया जाता है क्योंकि बोर्ड को बड़े टूर्नामेंट में हार का डर रहता है। अफगानिस्तान के खिलाफ हम जिस तरह से जूझते रहे वैसा नहीं होना चाहिए था। सबसे बड़ी समस्या यह है कि हम चयन में फिटनेस मामलों, वरिष्ठता और अन्य मसलों पर समझौता करते हैं।