टोफू यानी सोया पनीर शाकाहारी लोगों के लिए प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत होता है। वैसे तो पनीर में भी प्रचुर मात्रा में प्रोटीन होता है, लेकिन पनीर के मुकाबले टोफू खाना ज्यादा सेहतमंद है। पनीर में टोफू के मुकाबले फैट की मात्रा अधिक होती है। इसलिए टोफू खाना कहीं ज्यादा बेहतर है। लेकिन क्या आप टोफू के फायदों के बारे में जानते हैं? आखिर क्या होता है टोफू? आइए जानते हैं:

1- टोफू सोयाबीन मिल्‍क से बनता है। इसमें कैल्शियम और प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है। साथ ही यह ग्लूटेन फ्री होता है। इसमें कैलरी भी काफी कम होती हैं जिसकी वजह से यह वजन कम करने में भी कारगर है।

2- जिन लोगों को दूध की बनी चीजों से एलर्जी है, उनके लिए टोफू एक विकल्प के तौर पर काम करता है। इतना ही नहीं, डायटिंग करने वाले लोगों के लिए भी यह एक पूरक आहार का काम करता है।

3- टोफू खराब कलेस्ट्रॉल यानी एलडीएल कलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। टोफू में कार्बोहाइड्रेट्स, फाइबर, मैंगनीज, कैल्शियम, सेलेनियम, जिंक, कॉपर और फॉसफोरस भी प्रचुर मात्रा में होता है। ये सभी मिनरल्स हड्डियों को मजबूत बनाने और रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास करने में मदद करते हैं। इसके अलावा ये सेल्स के प्रॉडक्शन में भी मदद करते हैं।

4- टोफू हार्ट डिजीज के रिस्क को भी कम करता है। इसके सेवन से सैचरेटेड फैट्स के साथ-साथ कलेस्ट्रॉल का भी स्तर कम हो जाता है।

5- टोफू में आइसोफ्लेवोनिस होते हैं जिन्हें विभिन्न प्रकार के कैंसर से बचाव में सहायक माना गया है। नैशनल कैंसर इंस्टिट्यूट की 2012 में आयी एक स्टडी के अनुसार, टोफू एंडोमिट्रियल कैंसर की रोकथाम में भी कारगर है। इसके अलावा इसे ब्रेस्ट कैंसर से लेकर प्रोस्टेट और फेफड़ों के कैंसर से बचाव में सहायक माना गया है।