नयी दिल्ली
भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय खेल संबंध लंबे समय से टूटे पड़े हैं लेकिन पाकिस्तान को इस साल सितंबर में डेविस कप मुकाबले में भारत की मेज़बानी करनी है और देश के अनुभवी युगल खिलाड़ी रोहन बोपन्ना इस मुकाबले को खेलने के लिये तैयार हैं। बोपन्ना ने कहा कि मुझे इस मुकाबले का इंतजार है। मैंने पाकिस्तान के खिलाड़ी एसाम उल हक कुरैशी के साथ बातचीत की थी और उन्होंने कहा था कि चिंता करने जैसी कोई बात नहीं है। मैं पाकिस्तान में यह मुकाबला खेलने को तैयार हूं। उल्लेखनीय है कि कुरैशी युगल मुकाबलों में लंबे समय तक बोपन्ना के जोड़ीदार रहे थे और इस जोड़ी को इंडो-पाक एक्सप्रेस कहा जाता था।

भारत और पाकिस्तान के बीच डेविस कप एशिया-ओसनिया जोन के ग्रुप एक का मुकाबला इस्लामाबाद के पाकिस्तान स्पोटर्््स कॉम्पलैक्स में ग्रास कोर्ट पर खेला जाना है। यदि भारतीय टीम पाकिस्तान खेलने जाती है तो यह 55 साल के बाद पहला मौका होगा जब भारतीय डेविस कप टीम पाकिस्तान में खेलेगी। इस साल सितंबर के मुकाबले का विजेता विश्व ग्रुप क्वालिफायर्स में पहुंचेगा। हाल में अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने भारत पर से अंतरराष्ट्रीय खेलों की मेजबानी करने को लेकर लगा प्रतिबंध हटाया था। दरअसल इस साल के शुरू में दिल्ली में निशानेबाजी विश्वकप का आयोजन हुआ था जिसमें पाकिस्तान के दो निशानेबाज़ों को विश्वकप में भाग लेने के लिये वीजा नहीं मिल पाया था। आईओसी ने इस मामले पर कड़ा कदम उठाते हुये पाकिस्तानी निशानेबाज़ों की स्पर्धा से ओलंपिक कोटा ही समाप्त कर दिया था। दिल्ली में विश्वकप की मेजबानी किसी तरह बच पायी थी। लेकिन आईओसी ने इसके बाद भारत पर अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों की मेजबानी को लेकर प्रतिबंध लगा दिया था।