जबलपुर
RPF के डीआईजी विजय खातरकर महिला से छेड़छाड़ और अश्लील हरक़त के केस में फंस गए हैं. जबलुपर में रेलवे पुलिस ने उनके ख़िलाफ चलती ट्रेन में महिला से छेड़छाड़ और अश्लील हरक़त का केस दर्ज किया है. हालांकि DIG ने सफाई दी है कि ट्रेन में पानी की बोतल उठाते वक्त उनका हाथ महिला के हाथ से टच हो गया था. उन्होंने फौरन महिला से माफी भी मांग ली थी.

पुलिस ने आईपीसी की धारा 354 (A) में मामला दर्ज किया है. शिकायत दर्ज कराने वाली महिला जबलपुर में पदस्थ रेल्वे के वरिष्ठ अधिकारी की पत्नी है. शिकायत के मुताबिक ये घटना बीती रात की है. ये महिला इंदौर से जबलपुर जाने वाली ओवरनाइट एक्सप्रेस में एसी टू कोच में सफर कर रही थीं. महिला के मुताबिक गाडरवारा स्टेशन के पास ये घटना हुई.

महिला ने आरोप लगाया है कि आरपीएफ के डी आई जी ने उसके साथ रेप की कोशिश की. ये वारदात रविवार और सोमवार की दरमियानी रात एसी कोच मे सीट नंबर 15 में हुई. ट्रेन के जबलपुर पहुंचने पर महिला ने जीआरपी थाने पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई. रेलवे के बड़े अधिकारी सहित आरपीएफ के अधिकारी भी जीआरपी थाना पहुंचे थे लेकिन जीआरपी ने डी आई जी के खिलाफ जीरो पर मामला दर्ज किया.

जबलपुर इंदौर से चलकर जबलपुर आने वाली ओवरनाइट एक्सप्रेस के एसी टू कोच में हुई. महिला के मुताबिक इसमें सफर के दौरान रेलवे आरपीएफ के डीआईजी ने उसके साथ रेप की कोशिश की. यह घटना नरसिंहपुर से जबलपुर के बीच हुई. महिला भोपाल से जबलपुर की यात्रा पर थी. एसी 2 बोगी के कोच नंबर 15 और 16 में वो अपनी बेटी के साथ थी. आरपीएफ डीआईजी विजय खातरकर बोगी के सीट नंबर 13 में जबलपुर तक यात्रा कर रहे थे.

नरसिंहपुर के बाद आरपीएफ अफसर ने महिला के साथ छेड़छाड़ की. महिला ने विरोध किया, महिला के शोर मचाने और हंगामा करने पर कोच में मौजूद लोग इकट्ठा हो गए. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कोच में 2 जज भी थे. उन्होंने जबलपुर स्टेशन पहुंचकर शिकायत दर्ज कराने की सलाह दी. ट्रेन से उतरकर महिला सीधे जीआरपी थाने आ गई. वहां खबर मिलते ही भारी संख्या में आरपीएफ जवान एकत्र हो गए.।