लंदन

मौजूदा विंबलडन विजेता और दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच और स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने साल के तीसरे ग्रैंड स्लैम विंबलडन (पुरुष वर्ग) के फाइनल में जगह बना ली है. दोनों खिलाड़ियों ने शुक्रवार को खेले गए सेमीफाइनल मुकाबलों में स्पेनिश खिलाड़ियों को मात देकर खिताबी मुकाबले में जगह बनाई.

रोजर फेडरर ने राफेल नडाल को 7-6(7-3), 1-6, 6-3, 6-4 से मात दी. यह मैच तीन घंटे दो मिनट तक चला. फेडरर ने नडाल को हराकर 12वीं बार विंबलडन के फाइनल में जगह बनाई. फेडरर ने आठ बार इस टूर्नामेंट का फाइनल जीता है, जबकि तीन बार उप-विजेता रहे हैं.

वहीं, जोकोविच ने रोबटरे बॉतिस्ता अगुट को मात दे छठी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया. जोकोविच ने सेंटर कोर्ट पर खेले गए पहले सेमीफाइनल में अपने स्पेनिश प्रतिद्वंदी को दो घंटे 48 मिनट तक चले मुकाबले में 6-2, 4-6, 6-3, 6-2 से मात दी.

जोकोविक इससे पहले पांच बार-2011, 2013, 2014, 2015 और 2018 में इस प्रतियोगिता का फाइनल खेल चुके हैं, जिसमें सिर्फ एक बार 2013 में उन्हें हार मिली थी. मैच के बाद जोकोविच ने कहा, 'मुझे काफी मेहनत करनी पड़ी. यह सेमीफाइनल था और बॉतिस्ता अपना पहला ग्रैंड स्लैम फाइनल खेल रहे थे. वह काफी खुश थे. वह शानदार खेले. पहले सेट में उन्होंने धैर्य बनाए रखा, लेकिन बाद में वह और बेहतर खेलने लगे. मैं थोड़ा फंस गया था. तीसरे सेट के पहले चार और पांच गेम काफी करीबी थे. वहां मैच कहीं भी जा सकता था. मुझे खुशी है कि वह मेरी तरफ आया.'