बालाघाट
मध्यप्रदेश में नक्सली अपनी ताकत को बढ़ा रहे हैं. बालाघाट, मंडला के बाद डिंडोरी की तरफ भी नक्सलियों के तीन दलम सक्रिय हो गए हैं. इन जिलों में सक्रियता बढ़ाने की जिम्मेदारी एरिया कमेटी के सदस्यों को दी गई है. बालाघाट में मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों का बदला लेने की तैयारी की खुफिया सूचना के बाद पुलिस को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं.

बालाघाट में पहले से सक्रिय नक्सली अपनी तादाद को बढ़ा रहे हैं.बालाघाट में नक्सली मुठभेड़ पर डीजीपी वीके सिंह ने कहा कि पहली बार हॉकफोर्स को बड़ी सफलता मिली है. मुठभेड़ में इनामी नक्सली अशोक उर्फ मंगेश और नंदे को मार गिराया. दोनों नक्सली टांडा एरिया कमेटी के सक्रिय मेंबर थे. उनके पास से मिली एसएलआर रायफल किसी सुरक्षा एजेंसी की होने की आशंका है. डीजीपी ने बताया कि बालाघाट, मंडला में 2 दलम सक्रिय हैं. दलम डिंडोरी की तरफ सक्रियता बढ़ा रहे हैं. साथ ही मारे गए नक्सलियों से बरामद वायरलेस सेट के बारे में पता लगाया जा रहा है. मारे गए नक्सली एरिया कमांडर थे.
 
डीजीपी ने कहा कि मुठभेड़ के दौरान फरार हुए तीन नक्सलियों के लिए सर्चिंग जारी है. वहीं भोपाल के शाहपुरा से पकड़े गए संदिग्ध नक्सली दंपती का कनेक्शन मारे गए नक्सलियों से होने का सामने नहीं आया है. प्रदेश में लगातार नक्सलियों का मूवमेंट बढ़ रहा है.