कहते हैं कि जब घर में नकरात्मक ऊर्जा हो तो वहां पर रहने वाले लोगों की सोच पर इसका सीधा असर पड़ता है। लोग सकरात्मक सोच रखने की बजाए नकरात्मकता की ओर ज्यादा ध्यान देते हैं। इसी वजह से उन्हें किसी भी काम में सफलता नहीं मिलती है। आज हम आपके लिए वास्तु दोषों को दूर करने और सकरात्मकता को बढ़ाने के लिए कुछ उपाय लेकर आए हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में विस्तार से।

घर की नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए पोंछा लगाते समय पानी में थोड़ा नमक मिला लेना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि नमक में नेगेटिव एनर्जी ग्रहण करने की शक्ति होती है और इसके साथ ही इसकी वजह से घर में मौजूद सूक्ष्म हानिकारक कीटाणु भी नष्ट होते हैं।

कहते हैं कि घर में रोज सुबह या समय-समय पर गौमूत्र का छिड़काव करना चाहिए। गौमूत्र की तेज गंध से स्वास्थ्य लाभ मिलता है और वातावरण पवित्र होता है।

रंगोली बनाने की परंपरा पुराने समय से चली आ रही है। क्योंकि ऐसा माना गया है कि इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है और इसके साथ ही घर में प्रवेश करते समय सुंदर रंगोली दिखाई देती है तो मन को प्रसन्नता मिलती है और नकारात्मक विचार दूर होते हैं।

घर में लोबान, गुगल, कपूर, देसी घी और चदंन जलाकर इनका धुआं फैलाना चाहिए। इससे नकारात्मकता खत्म होती है। इन चीजों के धुंए से वातावरण के सूक्ष्म हानिकारक कीटाणु नष्ट हो जाते हैं।