आज के समय में हर जगह पर कुर्सी की लड़ाई चल रही है। राजनेता से लेकर आम आदमी कुर्सी के लिए कुछ क्या-क्या नहीं करते है। जैसे राजनेता वोट जीतकर सीट पाना चाहता है वहीं आम आदमी ट्रेन या बस में सीट मिलने के लिए परेशान रहता है। कुल मिलाकर कहा जाएं तो हर जगह पर सीट यानी कुर्सी की लड़ाई है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी कुर्सी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे। 

दरअसल, हम जिस कुर्सी की बात कर रहे है उस पर बैठने वाला दोबारा इसपर बैठने लायक नहीं बचता और उसकी मौत हो जाती है। 

दरअसल, इंग्लैंड में मौजूद एक कुर्सी को मौत की कुर्सी माना जाता है। यह कुर्सी थॉमस बस्बी नाम के एक शख्स की पसंदीदा कुर्सियों में एक थी।

वह इस कुर्सी पर किसी को बैठा हुआ नहीं देख सकते थे। इस कुर्सी के लिए उनका लगाव इस बात से लगाया जा सकता है कि 1702 में उनके ससुर इस कुर्सी पर बैठ गए।

ससुर के कुर्सी पर बैठने से वह इतना नाराज हो गए उन्होंने अपने ससुर को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद से किसी ने भी इस कुर्सी पर बैठनेकी हिम्मत नहीं दिखाई।

माना जाता है कि अपने आखिरी दिनों में थॉमस इस कुर्सी को श्राप दे गए कि इस पर जो भी बैठेगा वह मर जाएगा। हालांकि इसके बाद उनके इस श्राप पर लोगों ने ध्यान नहीं दिया था। इसके बाद इस श्रापित कुर्सी को दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान एक पब में रख दिया गया। 

इतना ही नहीं इस कुर्सी को वहां पर हॉट सीट का नाम दिया गया। फिर देखने में आया कि इस पर बैठने वाले की मौत हो जाती है। 

ऐसा कहा जाता है कि इस कुर्सी पर बैठने वाला हर शख्स मौत के गाल में समा जाता है। बताया जाता है कि इस कुर्सी पर बैठने वाले 63 लोगों की अबतक मौत हो चुुकी है।