डेन बोश (नीदरलैंड)
भारतीय पुरुष टीम तीरंदाजी विश्व चैंपियनिशप के क्वालीफिकेशन राउंड में सोमवार को यहां 11वें स्थान पर रही और तोक्यो ओलंपिक में जगह पक्की करने के लिए उसे दो मैच जीतने होंगे। मैड्रिड विश्व चैंपियनशिप 2005 के रजत पदक विजेता दो बार के ओलंपियन तरूणदीप राय ने 676 अंक के साथ भारतीय तीरंदाजों के बीच सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 11वां स्थान हासिल किया जबकि सेना के उनके युवा साथी प्रवीण जाधव 673 अंक के साथ 31वें स्थान पर रहे। सबसे अधिक निराश हालांकि शीर्ष रैंकिंग वाले भारतीय अतनु दास ने किया। रियो ओलंपिक के प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाले दास 666 अंक के साथ 50वें स्थान पर रहे जिससे टीम शीर्ष आठ में जगह नहीं बना सकी। टीम अगर शीर्ष आठ में रहती तो उसे राउंड आफ 16 के लिए बाई मिलती।

भारत के 2015 अंक रहे जो ग्रेट ब्रिटेन से सिर्फ तीन कम थे जिसे प्री क्वार्टर फाइनल के लिए बाई मिला। पुरुष रिकर्व में ओलंपिक कोटा हासिल करने के लिए अब भारत को 22वें वरीय नार्वे और फिर छठे वरीय कनाडा को हराना होगा। एशियाई खेल 2010 के व्यक्तिगत रजत पदक विजेता 35 साल के राय हालांकि क्वालीफिकेशन रैंंिकग से ंिचतित नहीं हैं और उन्होंने भरोसा जताया कि टीम एलिमिनेशन राउंड में अच्छा प्रदर्शन करेगी। सेना के इस तीरंदाज ने कहा कि हमें ओलंपिक कोटा हासिल करने का यकीन है। मुझे लगता है कि स्कोर पर्याप्त हैं। एलिमिनेशन दौर के नतीजे क्वलीफिकेशन से पूरी तरह अलग होंगे। उन्होंने कहा कि हमारी टीम मजबूत है जिसमें युवा और अनुभवी खिलाड़यिों का मिश्रण है। दास अनुभवी जबकि प्रवीण युवा है और अच्छी फार्म में है। मैं भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहा हूं। हम सभी ओलंपिक कोटा हासिल करने के लिए कड़ी टक्कर देंगे। इससे पहले भारतीय तीरंदाजों को राहत मिली जब विश्व तीरंदाजी से निलंबन की धमकी के बावजूद उन्हें भारतीय ध्वज तले खेलने की स्वीकृति मिली। रविवार को दो अध्यक्ष चुनने के कारण भारतीय तीरंदाजी संघ को निलंबित करने के संदर्भ में कार्यकारी बोर्ड कुछ दिन में बैठक करके फैसला करेगा।