वाराणसी
 
लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण में जिन सीटों पर वोटिंग हो रही है, उनमें वाराणसी भी शामिल है। वाराणसी में एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मैदान में हैं, वहीं कांग्रेस की ओर से अजय राय टक्कर दे रहे हैं। मतदान सुबह 7 बजे से शुरू हो गया है और शाम 6 बजे तक मतदान होगा। 18.5 लाख वोटर 26 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेन्द्र सिंह के मुताबिक गड़बड़ी करने वालों से सख्ती से निबटने के लिए अर्धसैनिक बलों को निर्देश दिया गया है। मतदान के दिन वोट डालने के लिए कोई भी व्यक्ति अपने वाहन से जा सकता है। हालांकि मतदान केन्द्र से दो सौ मीटर की दूरी पर वाहन खड़े करने होंगे। सार्वजनिक वाहन नहीं चलेंगे। मतदाताओं को ढोने या प्रभावित करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ऐसे लोगों को जेल भेजा जाएगा।
 
- वाराणसी लोकसभा सीट पर सुबह सात बजते ही वोटिंग शुरू हो गई। वोटर्स में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है।

- जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वाराणसी संसदीय क्षेत्र में पांच विधानसभा क्षेत्र शहर उत्तरी, शहर दक्षिणी, कैंटोमेंट, रोहनियां एवं सेवापुरी में कुल 18 लाख 54 हजार 541 मतदाता हैं। मतदान केन्द्र 587 एवं मतदेय स्थल 1819 हैं। इनमें 179 बूथों की निगरानी सीसी कैमरे से होगी तो 190 बूथों की वेबकास्टिंग होगी। बाकी बूथों पर वीडियोकैमरा एवं माइक्रो आब्जर्वर की तैनाती की गई है।

- प्रत्याशियों की संख्या को देखते हुए हर बूथ पर दो ईवीएम लगाए जाएंगे। महिलाओं व बुजुर्गो को वोट डालने के लिए प्राथमिकता दी जाएगी। दिव्यांगों, गर्भवती एवं बुजुर्गो के लिए मतदान केन्द्रों पर दिव्यांग मित्रों की तैनाती की गई है। हर बूथ पर व्हील चेयर रहेंगी। कड़ी धूप से बचने के लिए छाया का इंतजाम किया गया है। पानी की व्यवस्था रहेगी। यदि कोई शिकायत है तो विधानसभा क्षेत्रवार दिए गए कंट्रोल नंबर, जोनल मजिस्ट्रेट के मोबाइल नंबर पर शिकायत कर सकते हैं।

-जिला प्रशासन ने मतदाताओं से अपील कि है कि निडर होकर मतदान करें। जोनल-सेक्टर मजिस्टे्रटों के वाहनों पर जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगा है, जिन वाहनों पर जीपीएस सिस्टम नहीं हैं तो सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेटों के मोबाइल फोन में लगे जीपीएस सिस्टम से निगरानी की जाएगी। 

वाराणसी संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं की संख्या-

विधानसभावार मतदाताओं की सूची-
महिला      पुरुष        महिला       कुल मतदाता  अन्य
शहर दक्षिणी-  131597    164901    296513    15
शहर उत्तरी-    181575    222399    404014    40    
कैंटोमेंट    192720    239199    431947    28
सेवापुरी    150793    180377    331183    13
रोहनियां    172773    208089    390884    22
शिवपुर    160897  197116  358014    01
अजगरा    161437    188471    349918    10

1- बनारस संसदीय सीट- 
इस संसदीय क्षेत्र में जिले की आठ विधानसभा क्षेत्रों में से पांच विधानसभा क्षेत्र शहर उत्तरी, शहर दक्षिणी, कैंटोमेंट, रोहनियां एवं सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र पड़ता है। 
यहां कुल मतदाताओं की संख्या- 18 लाख 54 हजार 541. कुल मतदान केन्द्र- 587

2-चंदौली संसदीय क्षेत्र (आंशिक)- 
-इस संसदीय क्षेत्र में वाराणसी जिले के दो विधानसभा क्षेत्र शिवपुर एवं अजगरा पड़ते हैं। 
यहां वोटरों की संख्या- 707932
कुल मतदान केन्द्र-365

खास बातें- 
संसदीय क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या-1854541
पुरुष मतदाताओं की संख्या-1024965
महिला मतदाताओं की संख्या- 829458
दिव्यांग मतदाताओं की संख्या-12735
सर्विस मतदाताओं की संख्या-1936
18-19 आयु वर्ग के मतदाताओं की संख्या-15237 
अन्य मतदाताओं की संख्या- 118
कुल मतदान केन्द्र-587
कुल मतदान स्थल-1819

प्रशासनिक तैयारी पूरी, 22 जोन में बांटा जिला 

जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने के मुताबिक कानून व्यवस्था के मद्देनजर जिले को 22 जोन में बांटा गया है। इनमें पिंडरा विधानसभा क्षेत्र में 12 मई को मतदान हो जाने के बाद सात विधानसभा क्षेत्रों में 19 जोन बचे हैं। जिसमें जोनल स्तर पर 19 मजिस्ट्रेट एवं 144 सेक्टर मजिस्ट्रेट लगाए गये हैं। आचार संहिता का अनुपालन कराने के लिए एडीएम सिटी विनय कुमार सिंह को एवं प्रत्याशियों के व्यय पर नियंत्रण रखने के लिए मुख्य कोषाधिकारी शिवराम को प्रभारी अधिकारी बनाया गया है। 

एक नजर व्यवस्था पर
- विधानसभा क्षेत्रवार आचार संहिता पर नजर रखेगी टीम 
- हर विधानसभा क्षेत्र में नौ उड़नदस्ते होंगे।
- प्रत्येक थाना क्षेत्र में स्टैटिक निगरानी टीम तैनात की गई है। 
- हर विधानसभा क्षेत्र में दो वीडियो निगरानी टीम रहेगी। 

मतदान के पूर्व मिलेगी पर्ची
जिला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक मतदान के पूर्व घर-घर मतदाता पर्ची का वितरण किया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी बीएलओ को सौंपी गई है। पर्ची पर मतदाता का पूरा विवरण होगा। जिससे मतदाता को मतदान करने में कोई दिक्कत न आए। 
मतदाता सुविधा केन्द्र-
मतदान के दिन बीएलओ बूथ के बाहर मतदाता सूची लेकर बैठेंगे। इस दौरान वह मतदाताओं को उनके भाग संख्या, क्रम संख्या आदि की जानकारी देंगे। 
कर्मचारियों की संख्या- 12848
माइक्रो आब्जर्वर- 251
जोनल व सेक्टर मजिस्टे्रट- 19 व 144