लखनऊ
उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने रायबरेली में जिला पंचायत अध्यक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर हो रही खींचतान का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस के ही दो गुट में आपसी विरोध का नतीजा है। किसी भी कीमत पर जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी हासिल करने के लिए कांग्रेस पार्टी तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है। डॉ. दिनेश शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कई जिला पंचायत सदस्यों को मध्य प्रदेश में कांग्रेस महासचिव अजय सिंह के होटल में छिपाकर रखा गया था। 

जब सदस्य वहां से किसी तरह बाहर निकले तो मामले को गुमराह करने के लिए अपनी ही पार्टी की विधायक आदिति सिंह पर टोल प्लाजा के पास हमला दिखा दिया। जबकि वहां गाड़ी इसलिए दुर्घटनाग्रस्त हुई क्योंकि अदिति सिंह के काफिले के सामने एक चार पहिया वाहन आ गया था। उनकी गाड़ी बहुत तेज गति से थी, इसलिए पलट गई। फिर भी कांग्रेस नेताओं की शिकायत पर रायबरेली जिला प्रशासन ने रिपोर्ट दर्ज की है। हम मजिस्ट्रेट जांच भी करवा रहे हैं।

हताश हैं प्रियंका 
दिनेश शर्मा ने बताया कि कांग्रेस की संस्कृति ही हमेशा खरीद-फरोख्त की रही है और जिस तरह कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा इस मामले में हस्तक्षेप कर रही हैं, वह उनकी हताशा को दर्शाता है। क्योंकि लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए वह जहां जहां गईं उन्हें माकूल जन समर्थन नहीं मिला। इसलिए वह अब रायबरेली की राजनीति में कूद पड़ी हैं। इस मामले में एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह का कोई लेना देना नहीं हैं। कांग्रेस को अपनी आपातकाल वाली सोच से बाहर आना होगा। हमने कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह को पर्याप्त सुरक्षा दी है। कांग्रेस की मांग पर अविश्वास प्रस्ताव पर चुनाव के लिए पर्याप्त सुरक्षा राज्य सरकार की ओर से दी गई। वहां तीन कंपनी पीएसी लगाई गई है। फिर भी हताश कांग्रेस तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है।

पूरी घटना में साजिश रचने के लिए प्रियंका गांधी हैं दोषी-दिनेश सिंह 
रायबरेली से भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी व एमएलसी दिनेश सिंह ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि वह इस पूरी घटना में साजिश रचने के लिए प्रियंका गांधी को दोषी मानते हैं और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाएंगे। इसमें कांग्रेस महासचिव अजय सिंह, जिन्होंने अपने होटल में जिला पंचायत सदस्यों को बंधक बनवा कर रखा, उनके खिलाफ भी मामला दर्ज करवाएंगे। रायबरेली में 52 जिला पंचायत सदस्यों में से 31 सदस्य हमारे पक्ष में हैं। इसलिए कांग्रेस पार्टी हताश है और वह समाजवादी पार्टी के गुंडों का उपयोग कर तरह-तरह के कुचक्र रच रही है।

जानिए क्या है पूरा मामला?
उल्लेखनीय है कि, मंगलवार को जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के लिए कुछ सदस्य आ रहे थे। आरोप है कि पंचायत सदस्यों की अगुवाई कर रहे सदस्य राकेश अवस्थी को बछरावां की सीमा में निगोहा थाना क्षेत्र में स्थित टोल प्लाजा पर दबंगों ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। वहीं, रायबरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने आरोप लगाया है कि वह मतदान का जायजा लेने जा रही थीं, तभी हरचंद थाना क्षेत्र में उनकी कार को पीछे से टक्कर मारी गई, जिससे वह पलट गई। उन्हें बाएं हाथ में चोट आई है। इसके अलावा कार पर सवार कई अन्य लोग भी जख्मी हो गए।