भोपाल
भोपाल, रायसेन और सीहोर के किसानों से करीब छह करोड़ रुपए की धान की रकम लेकर गायब हुए व्यापारी की तलाश में छापेमार कार्रवाई कर रही है। वह अपने घर से भी गायब है, और पुलिस उसके रिश्तेदारें के घर दबिश दे रही है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपी व्यापारी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

जनवरी 2019 में भोपाल, रायसेन और सीहोर के किसानों में व्यापारी आशीष गुप्ता को धान बेची थी। करीब छह करोड़ की धान को व्यापारी ने राजस्थान के कोटा में बेच भी दिया था, लेकिन किसानों को उसका भुगतान करने में आनाकानी कर रहा था। इस मामले की शिकायत किसानों ने मंडी बोर्ड के अफसरों से की थी। मंडी के सचिव प्रदीप मलिक ने पूरे मामले की जांच की। जांच में मंडी सचिव ने पाया कि व्यापारी ने किसानों और छोटे-व्यापारियों से धान उधारी में खरीदी थी। भुगतान की रकम व्यापारी ने उसे बेचने के बाद देने की बात कही थी। पुलिस का कहना है कि व्यापारी को पकड़ने के लिए विशेष टीम बनाई गई है। ये टीम उसके ठिकानों पर लगातार दबिश देकर पकड़ने की कोशिश में लगी हुई है।