भोपाल
अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से आई नम हवाओं के बीच टकराव से मंगलवार देर रात उत्‍तर भारत में चक्रवाती तूफान आ गया जिससे अब तक कम से कम 28 लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए हैं। बारिश, ओले और आंधी की वजह से राजस्‍थान, गुजरात, मध्‍य प्रदेश, उत्‍तर प्रदेश समेत देश के कई राज्‍यों में फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। बताया जा रहा है कि अकेले राजस्‍थान में तूफान की वजह से कम से कम 9 लोगों की मौत हो गई है।

मोदी ने जताया दुख, मदद का ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर इस प्राकृतिक कहर में मरने वाले और घायल होने वालों के लिए दुख जताया है. पीएम ने ट्वीट किया कि आंधी-तूफान की वजह से हुए गुजरात में हुए नुकसान पर मैं आहत हूं और घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं. इसके अलावा प्रधानमंत्री राहत कोष की ओर से मृतकों के परिवार और घायलों के लिए मदद का ऐलान किया गया है. मृतकों के परिवार के लिए 2 लाख रुपये, वहीं घायलों के लिए 50 हजार रुपये के मुआवजे का ऐलान किया गया है.


बारिश और तूफान से समूचे उत्‍तर भारत में तापमान में तेज गिरावट आई है। तेज हवाओं के कारण कई घर उजड़ गए और पेड़ उखड़ गए। तूफान की वजह से कई वाहनों को भी नुकसान पहुंचा है और बिजली की आपूर्ति में बाधा आई है। बारिश और ओलावृष्टि से जयपुर में पारा गिरकर 11.6 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। राजस्‍थान के ही चित्‍तौड़ में 22 मिलीमीटर बारिश हुई। राजस्‍थान के बस्‍सी और जमवाराढ़ में दीवार ढहने से दो लोगों की मौत हो गई।

झालावाड़ में चार बच्‍चों के मौत की पुष्टि
झालावाड़ में चार बच्‍चों और उदयपुर में दो युवकों के मौत की पुष्टि हुई है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि बुधवार को भी पश्चिमी और पूर्वी राजस्‍थान में तेज हवाओं के साथ बारिश हो सकती है। आंधी-तूफान से मध्‍य प्रदेश में कम से कम 10 लोगों के मौत और कई लोगों के घायल होने की सूचना आ रही है। हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। बारिश और बिजली गिरने से इंदौर में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। छिंदवाड़ा में तापमान 28 डिग्री गिर गया। बारिश से हजारों क्विंटल गेहूं भीग गया। राज्‍य के मंदसौर और नीमच में जमकर ओले गिरे। इसके बाद रातभर बारिश होती रही।

गुजरात में भी आंधी और तूफान से 9 लोगों की मौत
बताया जा रहा है कि गुजरात में भी आंधी और तूफान से 9 लोगों की मौत हो गई है। उधर, उत्‍तर प्रदेश में भी मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक मंगलवार दोपहर शहर में तेज हवाओं के साथ बादलों की आवाजाही शुरू हो गई। इस दौरान पारे ने 10.5 डिग्री का गोता लगाया। इससे लोगों को गर्मी से काफी राहत मिली, हालांकि तेज हवाओं से लोगों को परेशानी भी हुई।

यूपी में फिर तूफान आने के आसार
वहीं, मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक, बुधवार दोपहर बाद राजधानी लखनऊ और उसके आसपास के इलाकों में बारिश और आंधी-तूफान के आसार हैं। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि इस वक्त हवा का रुख दक्षिण पूर्वी है। इस बीच बुधवार को भी बादलों की आवाजाही बरकरार रहेगी। इस दौरान तेज रफ्तार हवाएं तापमान में गिरावट लाएंगी। शाम होते-होते बारिश और 60 से 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी-तूफान के भी आसार हैं, हालांकि गुरुवार को मौसम साफ रहने की उम्मीद है।