पन्ना
पन्ना में रेत की अवैध ढुलाई कर रहे ट्रैक्टर ने 2 बच्चों को कुचल दिया. दोनों की हालत गंभीर है. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. प्रदेश में एक हफ़्ते में खनन माफिया की ये तीसरी बड़ी वारदात है. पिछले हफ़्ते मुरैना में डिप्टी रेंजर की कुचलकर हत्या करने के बाद बुधवार रात ग्वालियर में वन माफिया ने फॉरेस्ट गार्ड्स पर फायरिंग की थी.

पन्ना ज़िले के अजयगढ़ में रेत की अवैध खुदाई और ढुलाई बेरोक-टोक चल रही है. माल ढो रहे भारी वाहनों की रफ़्तार पर भी कोई रोक नहीं है. अवैध रेत से लदे अंधी रफ़्तार से भाग रहे एक ऐसे ही ट्रैक्टर ने बाइक को टक्कर मार दी. टक्कर लगते ही बाइक पर सवार दोनों बच्चे गिर पड़े और ट्रैक्टर उन्हें रौंदता हुआ भाग गया. दोनों बच्चों को पन्ना ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनमें से एक की हालत बेहद गंभीर है. घायलों के नाम शिवम यादव 12 साल और धीरेंद्र शुक्ला 13 साल है.

बताया जा रहा है ये ट्रैक्टर सब दुआ गांव के सरपंच के भाई का है. लेकिन पुलिस ने अज्ञात ट्रैक्टर चालक के ख़िलाफ धारा मामला दर्ज कर लिया है.

इससे पहले बुधवार रात ग्वालियर के तिघरा इलाके में पत्थर माफिया ने वन विभाग की टीम पर फायरिंग कर दी थी. उस हमले में विभाग के दो कर्मचारियों हरि वल्लभ चतुर्वेदी और हरिशचंद्र चौहान घायल हो गए थे. वन विभाग की टीम तस्करों को रोकने के लिए दबिश मारने गयी थी.

उससे पहले 7 सितंबर को मुरैना में डिप्टी रेंजर सूबेदार सिंह कुशवाह को रेत माफिया ने ट्रैक्टर से कुचल कर मार डाला था. सूबेदार सिंह NH-3 पर स्थित वन चैक पोस्ट पर तैनात थे. उन्होंने माफिया की गाडी़ रोकने की कोशिश की थी.