भोपाल
चुनाव प्रचार थम चुका है। कल बुधवार 28  नबंवर को मतदान होना है। आखिरी पड़ाव में मुकाबला औऱ भी रोमांचक हो चला है।कुछ सीटें ऐसी हैं जहां एक ही नाम के दो या दो से अधिक प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।ऐसे में मिलते जुलते नाम वाले प्रत्याशी भी गणित बिगाड़ सकते है।हालांकि इन सीटों के मतदाताओं से अपील की जा रही है कि वे मतदान करते समय खास ध्यान रखें और अपनी पसंद के प्रत्याशी के नाम पर ही बटन दबाएं।दरअसल, एक ही निर्वाचन क्षेत्र में एक ही नाम के दो प्रत्याशी मैदान में होने पर लोग मिलते-जुलते नाम वाले दूसरे प्रत्याशी के पक्ष में इवीएम का बटन दबा देते हैं। यह रणनीति पुरानी है, लेकिन हर चुनाव में काम आती है और हमेशा चुनाव मैदान में एक जैसे नाम वाले प्रत्याशी दिखाई देते हैं। 

इन सीटों पर है एक समान नाम वाले प्रत्याशी

  • जबलपुर की पाटन विधानसभा सीट पर चार अजय मैदान में हैं। भाजपा ने जहां अजय विश्नोई को टिकट दिया है, वहीं इसी नाम के तीन निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। ये हैं - अजय, अजय (अज्जू) और अजय कुमार।
  • दमोह विधानसभा सीट पर चार राहुल आमने-सामने हैं। इनमें तीन निर्दलीय हैं। राहुल सिंह कांग्रेस प्रत्याशी हैं, जबकि राहुल भैय्या, राहुल यादव और राहुल सिंह निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं।
  • दमोह जिले की पथरिया विधानसभा सीट पर लखन नाम के तीन प्रत्याशी हैं। भाजपा ने लखन पटेल को टिकट दिया है, वहीं निर्दलीय के रूप में लखन भैय्या और लखन कुसमारिया किस्मत आजमा रहे हैं।
  • कटनी जिले की विजयराघवगढ़ सीट पर पद्मा नामकी तीन महिला प्रत्याशी चुनाव लड़ रही हैं। ये हैं - पद्मा शुक्ला (कांग्रेस), पद्मा दीदी (निर्दलीय) और दीदी पद्मा (निर्दलीय)।
  • कटनी जिले की मुंडवारा विधानसभा सीट पर तीन संदीप चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा ने संदीप श्रीप्रसाद जायसवाल को टिकट दिया है, वहीं निर्दलीय रूप में संदीप जायसवाल और संदीप नायक मैदान में हैं।
  • रीवा विधानसभा सीट से एक ही नाम और उपनाम के दो प्रत्याशी हैं। राजेन्द्र शुक्ला, भाजपा और राजेन्द्र शुक्ला, निर्दलीय प्रत्याशी हैं। सतना की मैहर सीट में एक ही नाम के दो प्रत्याशी है। इनके उपनाम अलग है।
  • खुरई में गृहमंत्री और भाजपा प्रत्याशी भूपेंद्र सिंह के अलावा एक और भूपेंद्र सिंह मैदान में हैं।
  • सुरखी में कांग्रेस प्रत्याशी गोविंद के अलावा एक और गोविंद सिंह निर्दलीय खड़े हैं।
  • रहली में भाजपा प्रत्याशी गोपाल भार्गव से मिलता-जुलता नाम नहीं मिला तो दो प्रत्याशियों ने अपने असली नाम के आगे उपनाम गोपाल लिखकर पर्चे जमा किए।  
  • रहली में कांग्रेसी प्रत्याशी कमलेश साहू के नाम पर एक और कमलेश साहू को निर्दलीय उतारा गया है। तरवर, सामान्यत कम प्रचलित नाम है लेकिन यहां भी एक और तरवर ने पर्चा दाखिल किया है।
  • भिंड के अटेर में भाजपा के अरविंद सिंह भदोरिया के सामने अरविंद त्यागी मैदान में हैं| मेहगांव में कांग्रेस के ओपीएस भदौरिया के सामने बहुजन मुक्ति पार्टी के ओ पी एस बरतरिया चुनाव मैदान में हैं।
  • भांडेर से दो घनश्याम मैदान में है, शिवपुरी के पिछोर में कांग्रेस के के पी सिंह के सामने निर्दलीय के पी कुशवाह मैदान में है।
  • शिवपुरी के कोलारस में कांग्रेस के महेंद्र राम सिंह यादव के सामने निर्दलीय महेंद्र सिंह यादव मैदान में है।
  • गुना के चाचौड़ा में भाजपा की ममता मीणा के सामने ममता और ममता बाई निर्दलीय मैदान में हैं।
  • गुना के राघोगढ़ में कांग्रेस के जयवर्धन सिंह के सामने भाजपा के भूपेंद्र सिंह रघुवंशी चुनाव लड़ रहे हैं, तो इनके वोट काटने के लिए दो भूपेंद्र सिंह निर्दलीय मैदान में है।
  • हरदा में भाजपा ने कमल पटेल को उम्मीदवार बनाया है, तो  कमल पटेल के सामने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में एक और कमल पटेल मैदान में है, इसके अलावा एक और कमल निर्दलीय प्रत्याशी है। 
  • श्योपुर में कांग्रेस के रामनिवास रावत के सामने भारतीय वीर दल के रामनिवास कुशवाहा मैदान में है।