नई दिल्ली
 छोटे उद्यमियों को ‘59 मिनट में कर्ज’ पोर्टल का संचालन एक निजी कंपनी के हाथ में होने को लेकर उठे राजनीतिक विवाद के बीच भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) ने दावा किया है कि पोर्टल को चलाने वाली कंपनी ‘कैपिटल वर्ल्ड’ एक सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी है। इसमें सरकारी बैंकों के एक समूह की 56 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

सिडबी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘सिडबी के नेतृत्व वाले छह सरकारी बैंकों के एक समूह की कैपिटल वल्र्ड कंपनी में 56% हिस्सेदारी है, जो इसे एक सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी बनाती है।’’ रविवार को कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि वह सार्वजनिक संस्थानों के खर्च पर निजी इकाइयों और सांठ-गांठ के पूंजीवाद को बढ़ावा दे रहे हैं और अपने ‘मित्रों’ को इसका लाभ पहुंचा रहे हैं।

कांग्रेस ने लघु एवं मझोले उद्योग क्षेत्र को कर्ज देने के लिए बनाई गई नई ‘59 मिनट में कर्ज’ योजना के मामले में स्वतंत्र न्यायिक जांच की भी मांग की है।